इस SCAM का पर्दाफाश करने वाले कलेक्टर का तबादला, IAS एसोसिएशन की चैट हुई वायरल

भोपाल। प्रदेश के युवा IAS लोकेश कुमार जांगिड़ के ट्रांसफर ऑर्डर को लेकर बवाल मचा हुआ है। स्थानातंरण का आदेश आने के बाद एक चैट भी तेजी से वायरल हो रहा है। IAS एसोसिएशन के वायरल चैट पर कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से स्पष्टीकरण मांगा है।
दरअसल, प्रदेश के युवा आईएएस लोकेश जांगिड ने बड़वानी में कोरोना में काम आने वाले उपकरणों की खरीदी में भ्रष्टाचार की पोल खोली थी। जिसके बाद उनका तबादला किए जाने की खबरें सामने आ रही हैं। इसी बीच एक चैट भी वायरल हो रहा है। जिसमें ‘किरार महासभा’ का जिक्र किया गया है।

वायरल हुई चौकाने वाली चैट

इस वायरल चैट में लिखा है ‘बड़वानी में जिस कलेक्टर के खिलाफ लोकेश जांगिड ने मोर्चा खोला है, उनकी पत्नी किरार महासभा की सचिव हैं। वहीं सीएम शिवराज सिंह चौहान की पत्नी इसी महासभा की अध्यक्ष हैं। इस वजह से कथित तौर पर भ्रष्ट्राचार में लिप्ट पाए गए कलेक्टर शिवराज वर्मा ने सीएम के कान भरे हैं।’

कांग्रेस प्रवक्ता ने भी किया ट्वीट
वहीं चैट लीक होने के बाद प्रदेश के कांग्रेस प्रवक्ता ने भी इसको लेकर ट्वीट किया है। जिसमें उन्होंने लिखा है ‘एक ईमानदार अफ़सर ने प्रदेश छोड़ने का मन बना लिया है? मुख्यमंत्री व ज़िम्मेदारों को सामने आकर उनके तबादले का कारण व इस वायरल चैट पर सारी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए? प्रदेश में इस कोरोना महामारी में भी पदों की बोली, भ्रष्टाचार का खेल, संरक्षण व तबादला उद्योग चालू है…?’

यह है मामला
हाल ही में IAS लोकेश कुमार जांगिड़ ने कोरोना में काम आने वाले उपकरणों की खरीदी में भ्रष्टाचार का मामला उजागर किया था। दरअसल, बड़वानी में कोरोना की दूसरी लड़ाई के दौरान उपकरणों की खरीदी में भारी गड़बड़ी का मामला सामने आया था। कथित तौर पर 39 हजार के ऑक्सीजन कंसट्रेटर 60 हजार में खरीदे गए थे। जिसका खुलासा लोकेश जांगिड़ ने चार्ज लेते ही किया था और लगाम भी लगा दी थी, लेकिन यह बात किसी को रास नहीं आई और उन्हें रातों रात हटा दिया गया।

आईएएस एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कही थी ये बात
मामले में कथित तौर पर बड़वानी कलेक्टर शिवराज वर्मा का नाम भी सामने आया था। जिसके बाद से ही आईएएस एसोसिएशन के सदस्य लोकेश जांगिड़ की तारीफ कर रहे थे, तो वहीं एसोसिएशन के अध्यक्ष ने उन्हें कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा पर लगाए गए सारे आरोपों को वापस लेने को कहा था। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जब लोकेश जांगिड़ ने एसोसिएशन अध्यक्ष की बात नहीं मानी तो उनका तबादला आदेश जारी कर दिया गया।

गौतलब है कि IAS लोकेश इससे पहले भी कई भ्रष्टाचारों का खुलासा कर चुके हैं। उन्होंने अपने छोटे कार्यकाल में ही कईयों की पोल खोली है। वहीं बीते 4 साल में अब तक उनका 9 से ज्यादा बार तबादला किया जा चुका है। ऐसे में एक बार तबादला आदेश आने के बाद फिर से प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया है।

thehind today
Author: thehind today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *