एंड्राइड मोबाइल की जिद में बच्चे ने की खुदकुशी, पैसे नहीं होने से मां नहीं दिला सकी मोबाइल

छिंदवाड़ा। आजकल बच्चों में मोबाइल का जुनून दीवानगी की हद तक बढ़ता जा रहा है. बच्चों और युवाओं में तो कई बार यह शौक पागलपन की हद तक पहुंच जा रहाहै. इसी शौक ने बुधवार को एक हंसते खेलते परिवार की खुशियां छीन ली. मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में एक 14 साल के लड़के ने इसलिए जहर खाकर खुदकुशी कर लिया क्योंकि परिजनों ने मोबाइल दिलाने से मना कर दिया.
दरअसल पूरी घटना छिंदवाड़ा जिले के कुंडीपुरा थाना क्षेत्र के श्रीवास्तव कॉलोनी की है, जहां रहने वाली गीता ठाकरे दूसरे के घरों में बर्तन साफ कर अपना और अपने बेटे का पेट पालती हैं. कई दिनों से उनका बेटा एंड्राइड मोबाइल की मांग कर रहा था, लेकिन आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी कि वह अपने बेटे को मोबाइल दिला पाती. मां ने कई दिनों से उसे बहला-फुसलाकर मना करती आ रही थी, लेकिन सोमवार को बच्चा जिद पर अड़ गया. मां घर से कहीं बाहर गई थी. इसी दौरान उसने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.
बता दें कि मृतक का पिता विक्रम ठाकरे कई दिनों पहले उसकी मां और उसके भाई को छोड़कर घर से लापता हो गया. इसके बाद से ही मां दूसरों के घर में बर्तन साफ कर खुद का और बेटों का पालन कर रही है.
एसपी विवेक अग्रवाल ने बताया है कि मामला सोमवार देर रात का है. कुंडीपुरा थाना के धर्म टेकरी चौकी में मामले की जांच की जा रही है. हालांकि, प्राथमिक तौर पर जो बातें सामने आई हैं. उसमें वह मोबाइल की जिद कर रहा था. मां उसे दिला नहीं पाई थी, क्योंकि उसके सभी दोस्तों के पास मोबाइल थे जिससे वह जिद करता था. मोबाइल न मिलने पर उसने आत्महत्या कर ली. फिलहाल, पुलिस इस मामले में गंभीरता से जांच में जुट गई है.

thehind today
Author: thehind today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *