सहकारिता विभाग में फर्जी नियुक्तियों में अशोक नगर प्रदेश में अव्वल,उपअंकेक्षण अभिषेक जैन ने की फर्जी और अवैध नियुक्तियां,मुख्यमंत्री मौन:स्वदेश शर्मा

भोपाल, 01सितम्बर 2022
मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता श्री स्वदेश शर्मा ने मख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश के सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया पर भ्रष्टाचार को प्रश्रय देने का आरोप लगाते हुए कहा है कि अशोकनगर जिला किसी न किसी मुद्दों को लेकर हमेशा से चर्चा में रहा है, लेकिन प्रदेश की भाजपा सरकार के सहकारिता विभाग ने अशोकनगर को और अधिक चर्चित बना दिया है, अशोकनगर जिले के सहकारिता विभाग में पदस्थ उप अंकेक्षण अधिकारी अभिषेक जैन द्वारा प्रशासक रहते हुए अपने पद का भरपूर दुरुपयोग किया जा रहा है।
श्री शर्मा ने कहा कि सहकारिता विभाग द्वारा श्री जैन को सेवा समिति अशोकनगर, आथाई खेड़ा, ईसागढ़, कदवाया एवं नई-सराय पर संस्थाओं का स्वतंत्र प्रभार देकर इन संस्थाओं को अधिकारिता विहीन बना दिया और बड़ी संख्या में फर्जी एवं अवैध नियुक्तियां कर भारी भ्रष्टाचार को अंजाम दिया है। इस मामले मंे वरिष्ठ अधिकारियों को जानकारी होने के बाद भी उप अंकेक्षण श्री जैन पर कार्यवाही ना होना, भ्रष्टाचार में बंदरबांट का खेल प्रतीत होता है। वहीं आयुक्त, सहकारिता एवं पंजीयक के आदेश की अवहेलना कर मखौल उड़ाया जा रहा है।
श्री शर्मा ने कहा कि मध्यप्रदेश एवं पंजीयक सहकारी संस्थाएं कार्यालय भोपाल से जारी एक आदेश मंे कहा गया है कि मप्र सहकारी सोसायटी अधिनियम 1960 की धारा 49 (7-क) (ख) के अंतर्गत नियुक्त प्रशासकों को प्राथमिक कृषि साख सहकारी संस्थाएं एवं वितरण सहकारी संस्थाओं में नियुक्त सभी प्रशासकों द्वारा अधिकारिता विहीन कर्मचारियों की भर्ती की गई तो उन प्रशासकों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जावेगी एवं नियुक्तियों को भी तत्काल समाप्त किया जावेगा। इस संबंध में अन्य जिलों में इस तरह के कृत्य पर तत्काल कार्यवाही भी की गई। लेकिन अशोकनगर जिला इस कार्यवाही से अछूता रहा जो विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की मिलीभगत को इंगित करता है।
श्री शर्मा ने कहा कि श्री जैन द्वारा की गई अवैध एवं फर्जी नियुक्तियों को लेकर मध्य प्रदेश शासन के राज्य मंत्री बृजेंद्र सिंह यादव द्वारा अवैध नियुक्तियों की जांच कर तुरंत नियुक्तियों को निरस्त करने एवं उप अंकेक्षण अधिकारी अभिषेक जैन पर ठोस कार्यवाही किये जाने को लेकर उच्च अधिकारियों एवं जिले के कलेक्टर को पत्र लिखकर जैन के खिलाफ कार्यवाही की मांग की गई, लेकिन सरकार में बैठे लोगों द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी इस पर मौन हैं?
श्री शर्मा ने कहा है की फर्जी और अवैध नियुक्तियों को लेकर सरकार के मंत्री ही जब सवाल उठा रहे हों तो मामला स्पष्ट है की भ्रष्टाचार करने वालों को सरकार के मुखिया का संरक्षण प्राप्त है। उन्होंने कहा कि मंत्री के हस्तक्षेप के बाद भी अंकेक्षण अधिकारी पर कार्यवाही ना होना, सरकार की नियत पर प्रश्नचिन्ह लगाता है कि आखिरकार ऐसी क्या मजबूरी है जो शासन के मंत्री के दखल के बाद भी श्री जैन पर कोई कार्यवाही नहीं हो पा रही है। इससे साबित होता है कि सरकार के मुखिया सहकारिता विभाग पर पूरी तरह मेहरबान है।

thehind today
Author: thehind today

खबरें वही जो हो भरोसेमंद

thehind today

खबरें वही जो हो भरोसेमंद

thehind today has 3675 posts and counting. See all posts by thehind today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *