MP TET: शिक्षक पात्रता परीक्षा में चयनित अभ्यर्थियों की पात्रता वैधता बढ़ाई, नई भर्तियों में मिलेगा मौका

शिक्षक पात्रता परीक्षा-2018 उत्तीर्ण अभ्यर्थियों में से भरे जाएंगे शासकीय स्‍कूलों में शिक्षकों के पद

भोपाल। मध्य प्रदेश में चयनित शिक्षकों को राहत मिली है। राज्य शासन की ओर से चयनित शिक्षकों की पात्रता की वैधता की समयसीमा अब तीन साल से बढ़ाकर पांच साल कर दी गई है। यानी अब चयनित शिक्षक तीन साल तक के लिए वैध नहीं, बल्कि पांच साल तक के लिए वैध रहेंगे। आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लिए निर्धारित न्यूनतम 90 अंक भी अब से 75 अंक कर दिए गए हैं। न्यूनतम 60 प्रतिशत से घटाकर अब 50 फीसद कर दिया गया है। नए आदेश के तहत एससी, एसटी, ओबीसी और दिव्यांगजन के लिए न्यूनतम प्रतिशत समान हो गया है।
पिछले दिनों आर्थिक रूप से पिछड़ा वर्ग ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर उक्त मांग की थी। इस संशोधन से वंचित वर्गों को नई भर्तियों में सबसे बड़ा लाभ मिलेगा। प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ाई की स्थिति सुधारने के लिए सरकार प्रायमरी और मिडिल स्कूलों में 14 हजार शिक्षक नियुक्त करेगी। ये पद शिक्षक पात्रता परीक्षा-2018 में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों में से भरे जाएंगे। स्कूल शिक्षा विभाग ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए पात्रता परीक्षा परिणाम की वैधता अवधि पांच साल तक बढ़ा दी गई है। जरूरत पड़ने पर इसे और बढ़ाया जा सकता है। बता दें, कि वर्ग का परिणाम अगस्त 2029 को आया था, तो अब पात्रता बढ़कर अगर पांच वर्ष कर दी गई है तो इनकी वैधता अगस्त 2024 तक हो जाएगी। वहीं माध्यमिक शिक्षक वर्ग-2 का परीक्षा परिणाम 26 अक्टूबर 2019 को घोषित हुआ, यानी इनकी वैधता 26 अक्टूबर 2025 तक होगी।

सरकारी स्कूलों में 80 हजार से अधिक शिक्षकों के पद खाली
प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 80 हजार से अधिक शिक्षकों की कमी है। इससे पढ़ाई प्रभावित हो रही है। वैसे विभाग 20 हजार अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति कर रहा है पर इससे काम नहीं चल पाएगा, इसलिए 14 हजार शिक्षकोंं की भर्ती करने का निर्णय लिया गया है। इनमें सात हजार उच्च माध्यमिक शिक्षक और पांच हजार माध्यमिक शिक्षक के पद हैं। अभी यह तय होना है कि इनकी नियुक्ति के लिए क्या प्रक्रिया अपनाई जाएगी। मसलन, दस्तावेजों का सत्यापन कैसे और कब कराया जाएगा।

अतिथियों के भरोसे स्कूल
वर्तमान में स्कूल, अतिथि शिक्षकों के भरोसे ही हैं। पहले से 40 हजार अतिथि शिक्षक काम कर रहे हैं और 20 हजार की नियुक्ति अब की जा रही है। ऐसे में स्कूलों में 60 हजार अतिथि शिक्षक हो जाएंगे। फिर भी 40 हजार से ज्यादा शिक्षकों की कमी रहेगी।

उच्च माध्यमिक शिक्षक के लिए पात्र : 43,723
माध्यमिक शिक्षक के लिए पात्र : 2,16,240
इनमें से अब तक नियुक्त हुए : 18,000

thehind today
Author: thehind today

खबरें वही जो हो भरोसेमंद

thehind today

खबरें वही जो हो भरोसेमंद

thehind today has 3644 posts and counting. See all posts by thehind today

Leave a Reply

Your email address will not be published.