मध्‍य प्रदेश में अवैध रेत उत्खनन पर चार साल में 29 बार चली गोली, 79 मामले मारपीट और दो हत्या के

मध्‍य प्रदेश में रेत के अवैध उत्खनन का मामला विधानसभा में उठा

भोपाल(राज्य ब्यूरो)प्रदेशभर में रेत का अवैध उत्खनन गुरुवार को विधानसभा में छाया रहा। कांग्रेस विधायक आरिफ अकील, केपी सिंह कक्काजू और अजब सिंह कुशवाह सहित करीब छह विधायकों ने इस मुद्दे को उठाया है। आरिफ अकील के सवाल का लिखित जवाब देते हुए सरकार ने बताया है कि वर्ष 2018 से फरवरी 2022 तक प्रदेश के 11 जिलों में रेत के अवैध उत्खनन के 110 मामले दर्ज किए गए हैं। इनमें आरोपितों ने पुलिस, प्रशासन और खनिज विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ मारपीट और जान से मारने की कोशिश की है। इस अवधि में हत्या के दो, मारपीट के 79 प्रकरण पंजीबद्ध हुए हैं। 29 प्रकरण गोली चलाने के भी दर्ज किए गए हैं

खनिज साधन मंत्री बृजेंद्रप्रताप सिंह ने लिखित जानकारी में बताया कि मुठभेड़ के दौरान आरोपितों ने गश्ती या विशेष दल के अधिकारियों और कर्मचारियों पर गोली चलाई हैं गोली चलाने के सबसे ज्यादा 24 मामले मुरैना जिले में दर्ज किए गए हैं। इस अवधि में जिले में मारपीट के 27 और हत्या के दो मामले दर्ज हुए हैं। 53 प्रकरणों में से 40 प्रकरणों में न्यायालय में चालान पेश किया गया है। जबकि सात प्रकरणों में पुलिस विवेचना कर रही है और छह प्रकरणों में खात्मा लगाया जा चुका है।

जानकारी के अनुसार अवैध उत्खनन के मामले में प्रदेश में दूसरे नंबर पर सिंगरौली जिला है। जिले में अवैध उत्खनन रोकने गए दल के साथ मारपीट के 15 मामले दर्ज किए गए हैं। इन मामलों की वर्तमान में क्या स्थिति है इसकी जानकारी खनिज विभाग के पास भी नहीं है।दल से मारपीट के उमरिया जिले में 13, शिवपुरी में सात, दतिया में छह, खरगोन, सीहोर और अनूपपुर में तीन-तीन, बैतूल और विदिशा में एक-एक प्रकरण दर्ज हैं। दतिया में चार और छतरपुर में एक प्रकरण गोली चलने का भी दर्ज हुआ है।

तीन जिलों में पड़ोस से लाई जा रही रेत

खनिज साधन मंत्री ने विधायक केपी सिंह कक्काजू के सवाल के लिखित जवाब में बताया कि भिंड, रतलाम और पन्ना जिले की रेत खदानें ठेकेदारों ने छोड़ दी हैं। इन जिलों में चल रहे सरकारी निर्माण कार्यों के लिए समीपी जिलों से रेत मंगाई जा रही है। इन जिलों में क्रमश: मेसर्स पावर मेक प्रोजेक्ट लिमिटेड, रसमीत मलहोत्रा और मेसर्स डीएस एंड कंपनी को ठेके दिए गए थे। मंत्री ने बताया कि प्रदेश में रेत की चोरी रोकने के लिए खनिज, पुलिस और राजस्व विभाग संयुक्त रूप से कार्रवाई कर रहा है।

चंबल से अवैध उत्खनन, 182 प्रकरण दर्ज

विधायक अजब सिंह कुशवाह के सवाल के लिखित जवाब में खनिज साधन मंत्री ने बताया कि चंबल नदी से रेत के अवैध उत्खनन के मामलों में वन विभाग कार्रवाई कर रहा है। विभाग ने वर्ष 2021 में 182 वन अपराध दर्ज किए हैं। अवैध उत्खनन और परिवहन में लगे 69 वाहनों को राजसात किया गया है। वहीं 74 आरोपितों के खिलाफ न्यायालय में परिवाद प्रस्तुत किए गए हैं

thehind today
Author: thehind today

खबरें वही जो हो भरोसेमंद

thehind today

खबरें वही जो हो भरोसेमंद

thehind today has 3675 posts and counting. See all posts by thehind today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *